कहार

उनके पूर्वज 19 वीं सदी के अंत और 20 वीं सदी की शुरुआत के दौरान सिंगरौली की राजधानी गहरवार गाँव से आये। वे बैकुंठपुर में बस गए। अधिकतर लोग राज परिवारो के लिए काम किया करते थे। इसके बाद कुछ बैकुंठपुर छोड़ दिया और अन्य गांवों में बस गए।

.