उरांव

वे मूलतः छोटानागपुर के हैं। अपने बुजुर्गों के अनुसार उनके पूर्वजों बिशनपुर गांव में एक टैंक की खुदाई के लिए आये थे। ऐतिहासिक रिकॉर्ड के मुताबिक, इस टैंक को राजा अमोल सिंह की रानी बाई कदम कुंवर ने खुदवाया। समय लगभग 19 वीं शताब्दी के मध्य का था यह ज्ञात नहीं है कि उनके पूर्वजों के कुछ पहले आये थे। बिशनपुर से वे बोदर, कूदेली, अंगाओं,कसरा और अन्य क्षेत्रों के लिए चले गये ।