पर्यटन

कोरिया विविधाताओ से भरपूर है वर्षा ऋतु में जब प्रकृति अपने सौन्दर्य की चरम सीमा पर होती है तो ये कोरिया जिले की कुछ महत्वपूर्ण नदियों पर बनने वाली जलप्रपात को भी सुन्दरता प्रदान करती है ये जलप्रपात स्वतः ही अपनी सुन्दरता बिखेरती है पूर्णता प्राकृतिक रूप से बनी ये जल प्रपात आस पास के लोगो आकर्षित करती है इस जिले में ऐसे कई जल प्रपात है जैसे अमृत धारा , गौरघाट ,रामदाह ,च्युल जलप्रपात, इन सभी में से सिर्फ अमृतधारा को जिला प्रशासन की मदद से पर्यटनीय क्षेत्र रूप में बनाया गया है अन्य जलप्रपात अभी उस रूप में विकसित नहीं हुए है तथापि वहां आस पास के जानकर लोग घुमने, पिकनिक आदि के लिए अक्सर जाते रहते है कुछ मुख्य जलप्रपात की सामान्य जानकारी इस प्रकार है-

कोरिया जिले में पर्यटन स्थल निम्नानुसार हैं:

  1. अमृतधारा जलप्रपात: यह जलप्रपात जिला प्रशासन के सहयोग से पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित किया गया है
  2. गौरघाट जलप्रपात: यह जलप्रपात प्राकृतिक रूप से विकसित है
  3. अकुरी नाला जलप्रपात : यह जलप्रपात प्राकृतिक रूप से विकसित है
  4. पोड़ी जगन्नाथ मंदिर, चिरमिरी
  5. रामदह जलप्रपात: यह जलप्रपात प्राकृतिक रूप से विकसित है
  6. च्युल जलप्रपात : यह जलप्रपात प्राकृतिक रूप से विकसित है
  7. गुरु घासीदास राष्ट्रीय उद्यान,सोनहत
  8. कोरिया पैलेस : इस महल को को इसके रख रखाव करने वाले सेवक की मदद सेदेखा जा सकता है